COPA Theory कोपा थ्योरी

Admin bar avatar
adminglobal
COPA
Free
COPA Theory कोपा थ्योरी 1
  • 1 lessons
  • 1 quizzes
  • 90 day duration

01-Components of Computer

Components of Computer  कम्प्यूटर कम्पोनेण्ट्स का परिचय

इस अध्याय के मुख्य बिंदु निम्नलिखित है –

कंप्यूटर का परिचय -Introduction of Computer

  • Computer शब्द लैटिन भाषा के Compute शब्द से बना है, जिसका अर्थ है गणना करना।
  • कम्प्यूटर एक ऐसी मशीन है जो गणना करती है या गणनाओं को करने में हमारी सहायता करती है।
  • कम्प्यूटर एक स्वचालित तथा निर्देशों के अनुसार कार्य करने वाली इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस है, जिसमें डेटा को प्राप्त, स्टोर या  प्रदर्शित कर सकती है।
  • चार्ल्स बैबेज को कम्प्यूटर का जनक कहा जाता है, जिन्होंने कंप्यूटर का आविष्कार किया और सबसे पहला गणना करने वाला यन्त्र अबेकस है।

इनपुट डिवाइस –

इनपुट उपकरणों का कार्य है कि हम अपनी भाषा में उन्हें जो भी डेटा या आदेश देते हैं, वे उसे बाइनरी भाषा में बदलकर कम्प्यूटर में भेज देते हैं। जैसे- माउस, की-बोर्ड, स्कैनर, माइक,जॉय-स्टिक, बार कोड स्कैनर इत्यादि।

आउटपुट डिवाइस-

आउटपुट उपकरण कम्प्यूटर से प्राप्त होने वाले रिजल्ट को, जो बाइनरी भाषा में होते हैं, हमारे लिए उचित संकेतों या भाषा तथा चित्रों में बदलकर यूजर को उपलब्ध कराते हैं। जैसे- प्रिंटर, प्लॉटर, मोनिटर, प्रोजेक्टर, स्पीकर इत्यादि।

सी.पी.यू.-

सेन्टल प्रोसेसिंग यूनिट एक वास्तविक कम्प्यूटर है। यह कम्प्यूटर का ब्रेन कहलाता है। कम्प्यूटर में किए जाने वाले सभी कार्य सी. पी. यू. द्वारा ही किए जाते हैं।
अर्थमेटिक लॉजिक यूनिट सी. पी. यू. के लिए सभी प्रकार की अंकगणितीय क्रिया (जोड़, घटा, गुणा तथा भाग) और तुलना करती है।
कण्ट्रोल यूनिट का कार्य बहुत महत्त्वपूर्ण होता है। यह कम्प्यूटर के सभी भागों के कार्यों पर नजर रखता है और उनमें परस्पर तालमेल बैठाने के लिए उचित आदेश भेजता है।

कंप्यूटर मेमोरी- Computer Memory

मेमोरी कम्प्यूटर का वह भाग है, जो डेटा को सेव यानि स्टोर करता है। कंप्यूटर में दो प्रकार की मैमोरी होती है-
  • प्राइमरी मैमोरी- मेन मेमोरी या प्राइमरी मैमोरी को इंटरनल मैमोरी भी कहा जाता है, क्योंकि यह कम्प्यूटर के सी.पी.यू. से सीधे जुडी  रहती है या सी.पी.यू. का ही हिस्सा होती है।
  • सेकेण्डरी मैमोरी- सहायक मैमोरी सी.पी.यू. के बाहर होती है इसलिए इसे एक्सटर्नल  या सेकेण्डरी मैमोरी भी कहा जाता है।

कंप्यूटर के प्रकार-Types of Computer

  1. एनालॉग कम्प्यूटर का प्रयोग भौतिक मात्राओं; जैसे-दाब, तापमान, लम्बाई, इत्यादि को मापकर उनके रिजल्ट को अंकों में प्रस्तुत करने के लिए किया जाता है।
  2. डिजिटल कम्प्यूटर का उपयोग अंकों की गणना करने के लिए किया जाता है। ये इनपुट किए गए डेटा और प्रोग्राम्स को बाइनरी संख्या  में परिवर्तित करके इन्हें इलेक्ट्रॉनिक रूप में प्रस्तुत करते हैं।
  3. हाइब्रिड कम्प्यूटर उन कम्प्यूटरों को कहा जाता है जिनमें एनालॉग तथा डिजिटल दोनों ही कम्प्यूटरों के गुण सम्मिलित हों।

कंप्यूटर हार्डवेयर- Computer Hardware

कम्प्यूटर के सभी भागों जिनको हम हम आँखों से देख तथा हाथों से छू सकते हैं उसको को हार्डवेयर कहा जाता है। कंप्यूटर के कुछ मुख्य हार्डवेयर –
  • कीबोर्ड सबसे प्रमुख इनपुट युक्ति है, इसका प्रयोग कम्प्यूटर में डेटा एवं निर्देशों को कम्प्यूटर की मैमोरी तक पहुंचाने में किया जाता है।
  • माउस का उपयोग मॉनिटर पर कर्सर को कण्ट्रोल करने में किया जाता है।
  • स्कैनर का प्रयोग पेपर पर लिखे हुए डेटा या छपे फोटो को डिजिटल रूप में परिवर्तित करने के लिए किया जाता है।
  • मॉनिटर को विजुअल डिस्प्ले यूनिट (Visual Display Unit-VDU) भी कहते हैं।
  • प्रिंटर एक प्रकार की आउटपुट युक्ति है, जिसका प्रयोग कम्प्यूटर से प्राप्त डेटा और सूचना को किसी कागज पर प्रिण्ट करने के लिए किया जाता है, यह ब्लैक और व्हाइट के साथ-साथ कलर डॉक्यूमेण्ट को भी प्रिण्ट कर सकता है।
  • मदरबोर्ड कम्प्यूटर का केन्द्रीय या मुख्य सर्किट बोर्ड होता है। मदरबोर्ड पर चिप के कनैक्टिंग प्वॉइण्ट्स को सॉकेट्स कहते हैं।
  • माइक्रोप्रोसेसर को सी.पी.यू. (CPU) भी कहा जाता है, जिसका कार्य अर्थमेटिक और लॉजिकल ऑपरेशन को पूराकरना, प्रोग्राम को रन करते समय अस्थायी रूप से डेटा स्टोर करना तथा माइक्रोप्रोसेसर के सभी भागों में टाइमिंग व कण्ट्रोल सिग्नलों का आदान-प्रदान करना होता है।
  • Components of Computer Lession is Completed.

श्रेय- कुछ अंक अरिहंत प्रकाशन द्वारा प्रकाशित कोपा थ्योरी पुस्तक से लिए गए हैं।

एम्प्लोयबिल्टी स्किल्स की विडियो देखने के लिए यहाँ क्लिक करे।

Leave a Reply